नवरात्रि कन्या पूजन विधि

0

कन्या पूजन जिसे लोंगड़ा पूजन भी कहते है अष्टमी और नवमी दोनों ही दिन किया जा सकता है ।

कन्या पूजन की विधि कुछ इस प्रकार से है :

  • नौ कुँवारी कन्याओं को सादर पुर्वक आमंत्रित करे
  • घर में प्रवेश करते ही कन्याओं के पाँव धोएं और उचित आसन पर बिठाए
  • हाथ में मौली बांधे और माथे पर बिंदी लगाएं।
  • उनकी थाली में हलवा-पूरी और चने परोसे।
  • कन्या पूजन के लिए पूजा की थाली जिसमें दो पूरी और हलवा-चने रख ले और बीच में आटे से बने एक दीपक को शुद्ध घी से जलाएं।
  • कन्या पूजन के बाद सभी कन्याओं को अपनी थाली में से यही प्रसाद खाने को दें।
  • अब कन्याओं को उचित उपहार तथा कुछ राशि भी भेंट में देऔर चरण छुएं और उनके प्रस्थान के बाद स्वयं प्रसाद खाले।

श्रद्धानुसार अष्टमी या नवमी के दिन हवन और कन्या पूजा कर भगवती को प्रसन्न करना चाहिए।

Share.

About Author

Comments are closed.